मेरी पसंदीदा चुदक्कड़ घोड़ी

मेरा लम्बा और मोटा लंड हर वक़्त बस चोदने की फ़िराक में लगा रहता है. हर मर्द का मन चुदाई करने का करता है. हर मर्द चाहता है कि उसके पास कोई न कोई मस्त लड़की या औरत हो जिसे वो जब चाहे जैसे चाहे चोद सके. मस्त नंगी नंगी चुदक्कड़ घोड़ियों को चोदने से ज्यादा मज़ा किसी चीज़ में नहीं आता. वैसे तो ज्यादातर मर्दों के जीवन में सिर्फ़ एक ही घोड़ी होती है और वो है उनकी बीवी. पर मैंने 20 साल की उम्र होने से पहले ही कुल मिलाकर 24 मस्त चुदक्कड़ घोड़ियाँ चोद डाली थीं.. पर इतनी सारी लड़कियों और औरतों में मुझे सबसे ज्यादा मज़ा एक लड़की की चुदाई करने में आता था. और वो लड़की थी मेरी सबसे प्यारी, सबसे गदराई, सबसे ज्यादा कामुक और हद से ज्यादा चुदक्कड़ दीदी…….मेरी लंगड़ी मधु दीदी. जब तक मैंने दीदी की चुदाई नहीं की थी तब तक मैं उन्हें अपनी दीदी की तरह ही मानता था. वो दोनों पैरों से लंगड़ी थी पोलियो की वजह से और खड़ी ना हो पाने की वज़ह से हमेशा घुटनों पर चलती थी या फिर ३ पहियों की रिक्शा पर. पर जब मधु दीदी मुझसे पहली बार चुदी तो मैं उनका दीवाना हो गया. पहली बार चुदने के बाद दीदी भी मेरी चुदाई की दीवानी हो गयीं. शुरू के 2 महीने तो दीदी चुदाई से काफ़ी डरती भी थी कि कहीं हम पकड़े ना जाएँ. बड़ी मुश्किल से मैं दीदी को हफ्ते 10 दिन में एक बार चोद पाता था और बड़ी बेसब्री से उस दिन का इंतज़ार करता था. पर इतने इंतज़ार के बाद उस लंगड़ी को चोदने में खूब मज़ा भी आता था. घंटों उस चुदक्कड़ लंगड़ी को घोड़ी बना कर चोदने में हद से ज्यादा आनंद आता था. और दीदी भी मेरा नाम ले ले के खूब जोशीले ढंग से चुदती थी. दीदी को चुदने में इतना मज़ा आने लगा कि वो 2 महीने बाद हर दुसरे तीसरे दिन चुदने के लिए कहने लगीं.

“दीपू…मैं 2 दिन से नहीं चुदी. कब चुदुंगी?”

“कल मोका मिलेगा अच्छा. पुरे दिन तुम्हारी चुदाई करूँगा”

बस इस तरह ही दीदी मुझसे चुपके से बात करती रहती जब मैं उनके घर जाता. और जब मैंने देखा कि ये लंगड़ी मेरे लंड की दीवानी हो गयी है तो मैंने एक दिन दीदी की मस्त खरबूजे जैसी गांड भी चोद दी. जब पहली बार दीदी की गांड चुदी तो दीदी ख़ूब रोयीं और दर्द से चिल्लाई. पर मैं तो उस दिन जैसे जन्नत में ही घुस गया था. दीदी की गांड की ही वजह से मेरे अंदर दीदी को चोदने की इच्छा जागी थी. दो महीने तक लंगड़ी मुझसे चुदती रही पर मैंने दीदी की गांड में कभी ऊँगली तक नहीं डाली. मैं पहले दीदी को सेक्स के लिए पागल कर देना चाहता था. क्यूंकि सच तो ये था कि जितना मज़ा मधु दीदी को मुझसे चुदने में आता था उससे कई गुना ज्यादा मज़ा मुझे आता था दीदी को चोदने में. मैं जब चुदाई करता हूँ तो लड़की को घोड़ी बनाकर खूब देर तक चुदाई करना पसंद करता हूँ. अक्सर लड़कियां 20-25 मिनट से ज्यादा घोड़ी पोज़ में नहीं खड़ी हो पातीं. उनके घुटनों में दर्द होने लगता है. पर दीदी तो एक सचमुच की घोड़ी थी. वो तो हर वक़्त ही घोड़ी के पोज़ में रहती थीं. लंगड़ी होने की वजह से वो घोड़ी की तरह घुटनों पर ही चलती थीं. इसी वजह से दीदी मेरे लिए किसी भी जगह घोड़ी बन कर खड़ी हो जाती थीं ताकि उनका नंगा घोड़ा…….यानि की मैं…..उस मस्त चुदक्कड़ घोड़ी की चुदाई कर सकूँ. अब चाहे मैं उनको 3 घंटे चोदूं या 6 घंटे चोदूं दीदी पुरे टाइम अपने हाथों और घुटनों पर घोड़ी बनी रहती. कभी नहीं कहा कि “दीपू मेरे घुटनों में दर्द हो रहा है!” बहुत बार तो यूँ ही फ़र्श पर या लकड़ी की बेंच पर दीदी बिना कोई तकिया घुटनों के नीचे रखे घोड़ी बनी रहतीं और चुदती रहतीं. कई बार तो दीदी फ़र्श पर मस्त घोड़ी बन जातीं और मैं पूरा उनके ऊपर चढ़ के कमर पकड़ के बहुत ही ज़ोर से उनकी चुदाई करता. मैं इतने तेज़ और भयंकर तरीके से धक्के लगाता कि मुझे खुद को लगता कि कहीं दीदी के घुटने छिल ना जाएँ. मैं दीदी से पूछता “दीदी तकिया लगा लो घुटनों के नीचे नहीं तो घुटने छिल जायेंगे और दर्द भी होगा.” पर दीदी कहती “कोई बात नहीं दीपू…..मुझे आदत है….तू बस ऐसे ही चोदता रह मेरे घोड़े…….ऊऊह्हह्हह्हह्हह्हह …….रुक मत दीपू…….बस चोद मुझे”

यह कहानी भी पड़े  आंटी की चूत की चुदाई का मजा

दीदी की यही बात बड़ी मस्त थी. वो बिलकुल वैसी लड़की थी जैसी मुझे चाहिए थी. मेरे सामने अगर कोई नंगी लड़की घोड़ी बनी हो तो मैं उस घोड़ी को बिना रुके चार चार घंटे तक चोद सकता हूँ. लड़की को घोड़ी बना कर चोदना या डौगी स्टाइल में चोदना मुझे हद से ज्यादा पसंद है. और दीदी ही अकेली ऐसी लड़की थी जो मेरे लिए तब तक घोड़ी बनी रह सकती थी जब तक मैं चाहूं. इसलिए मुझे दीदी को चोदने में बहुत ज्यादा मज़ा आता था. और इसलिए मैंने दीदी की गांड चोदने में जल्दबाज़ी नहीं दिखाई. दीदी को मुझसे चुदते हुए 2 महीने से ज्यादा हो चूका था जब मैंने उस दिन पहली बार दीदी की मस्त कुंवारी फूली हुई गांड का उद्घाटन किया. दीदी की गांड ने मुझे काफी समय से पागल कर रखा था. और जब मैं उनकी डौगी स्टाइल में चुदाई करता तब तो मेरी और ज्यादा हालत ख़राब हो जाया करती थी. चुदाई करते टाइम मैं खूब उस लंगड़ी के मस्त नंगे नंगे मुलायम चूतडों को पकड़ता और सहलाता रहता. और डौगी स्टाइल में तो बहनचोद उस लंगड़ी की गांड का वो मस्त भूरा छेद भी हमेशा मुझे चिड़ाता रहता. पर मैंने भी सोच रखा था कि इस लंगड़ी गांड का उद्घाटन जब करूँगा जब ये लंगड़ी मेरी चुदाई के लिए पागल हो जाएगी. क्यूंकि गांड का भूरा छेद देख के ही लगता था कि गांड काफी तंग है. और दीदी की गांड कभी चुदी भी नहीं थी. और चुदती भी कैसे उस कुतिया की तो चूत भी पहली बार मैंने ही चोदी थी. इसलिए जब 2 महीने बाद हम रोज़ चुदाई करने लगे और हमें दीदी के घर पर ही सुबह से शाम तक अकेले रहने का मोका भी मिलने लगा तो मैंने एक दिन दीदी की गांड का उद्घाटन कर दिया. दोस्तों एक लकड़ी की बेंच पे चुदी थी उस दिन दीदी की गांड. और लंड को तो मैंने दीदी की रसोई में रखे सरसों के तेल के डिब्बे में पूरा डुबो कर तरर किया था उस लंगड़ी कुतिया की गांड में डालने के लिए. पर मैं भी खूब कमीना था. मैंने दीदी की गांड में तो बिलकुल भी तेल नहीं लगाया. बस एक पतली सी इंजेक्शन वाली पिचकारी से दीदी की गांड में गुनगुना पानी भर के दीदी को एनीमा देकर अच्छे से गांड को साफ कर लिया था. हाँ जब दीदी बेंच पर घोड़ी बनी तो मैंने पहली बार उनकी गांड का स्वाद लिया. मैंने आधे घंटे तक दीदी की गांड के छेद को खूब मस्ती से चाटा. मैं मज़े से पागल हो रहा था. जिस गांड को मैं इतना पसंद करता था और जिस गांड के छेद को मैंने दीदी की चुदाई करते हुए खूब फुदकते हुए देखा था वो छेद आज दीदी ने मेरे सामने परोस के रख दिया था. ये ख्याल कि मैं आज दीदी की इतनी कोमल और गरम गांड अपने लंड से चोदुंगा, मुझे पागल बना रहा था. मैं दीदी के उस गरम गांड के छेद को किसी कुत्ते की तरह चाट रहा था. मेरे होंठ दीदी की गांड के छेद पे ऐसे रगड़ खा रहे थे जैसे वो दीदी की गांड का छेद नहीं बल्कि उनके होंठ हो. ……..पर उफ्फ्फ्फफ्फ्फ़……वो भूरा मस्त फुदकता हुआ गांड का छेद उनके होंठों से कम भी नहीं था. मैं जोश में खूब गन्दी हरकत करने लगा. गांड के छेद में थोडा सा थूक जीभ से अंदर करता और फिर ज़ोर से छेद को चूस के थूक वापस अपने मुंह में ले लेता और उसे सटक जाता. बिलकुल ऐसा लग रहा जैसे मैं दीदी की गांड का रस पी रहा हूँ. लंगड़ी तो मेरी ऎसी हरकतों से गर्मी से पागल हो गयी. कहने लगी “उफ्फ्फफ्फ्फ़ दीपू …..कितना मज़ा आ रहा है……इस्स्स्सस…..उफ्फ्फफ्फ्फ़……आःह्हह्ह्ह्हह्ह्ह्ह”

यह कहानी भी पड़े  दीदी की चूत अंकल का लंड

Pages: 1 2 3 4 5 6 7

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


najneen ki chudai sex hindi storyमेरी चूत मे मोटा ओर बडा लन्ड डाला हिन्दीKamukata naurseलङ चुतकहानीदीदी की स्टेज सो में पैंटी देखिपुजा दिदी और नेहा दीदी की नंगी चुतsafar me chudi ke Hindi khanePet ke todi land se chudai xxx maushi kiविधवा दिदी की बुरीतरह गांड मारी माँ तडपती रोती रही चुदाई कहानीअनकंट्रोल सेक्सीय माँ स्टोरीय सेक्स वीडियोAntarvasnasexkahani.comचुदाई सजा बहनतीन मोटे लंड ममी कि अकेली चुत कहानीdidi gaav ki randi kahaniचूतgaliya deke chudya ma ne katharandikhana gandi sex Kahaniचुत मे दॅद लड के लिएRajsarma sex stori hindiKhidki se dekhi chudai kahaniya vidhwa aunti chudne aai khet me kahaniमेरी सुहागरातBhabhi ko ghar ke chobare me chaudaantarvsan bhai ne ki tirenn papa ne Sadi ki sexy Kahani rajsharma.comraat ko sath main sona pda kamuak antarvasnaWWW.XNXX वनने के नंबरअस्पताल की मस्त कहानियागाङ मारभैया देवार ने पुनाम भाभी की चुत मारऔरत की ब्रा और पैटीँ पर चुदाईगर्लफ्रेंड को चोदा कहानीmosi blackmail chudai sex storyक्सक्सक्स विडोज़ इन हिंदी ससुर बहु पति संग ग्रुप चुड़ै इनपतनी को गैर से चुदवानाविधवा बहन ने भाभी के ऊपर दया storieskalhe chut sax vनोकर को दीदी को ठोकते देखाchut kholo mujhe land dalna haसेक्स स्टोरी अब्बू से मैंनेसो तेली माँ ने बेटे से सेकस कारवयPorn Babli kaki ghu hindi kahaniसासुमा के चोदामज़बूरी में अंजन लैंड से चुदाई कहानीबुड्डे नोकर के लम्बे और मोटे लन्ड कच्ची बुर चुदाई की कहानियाँJabanladki ko jabarjasti lund chusa ke chodaबहन और भाई ने अपनी बहन की बूबस दबाया और लड़ा माराबीवी थी गैर मर्द के बाहों में chudaisasural me meri chudai rajsharma sexstoryपड़ोसन छूट की स्टोरीma cudgai pancia se sex khaniचुत का रस और चुदाई .comट्रैन मैं भाई बहन की चुदाईछूटे की चुदाई अपने हाथ सेलडकी चुत काजल दीदी की चुदाई की कहानियांMausi aur maa ki tubewel pr chudai ki भीगे कपड़ों में लड़की की चुदाई सेक्स स्टोरीantar wasna sex hindi khani chachaमवशी बेटा की सेकसी बिडीवbhabhi ko payal gift ki hindi kahaniमौसी और मा की चुदाईहवेली मे चुदाई का मज़ागालिया देकर चुत मारीउषा भाभी कि चुत मे लडHaye raja meri beti ki bur mein lauda dalo naमम्मी पापा सेक्स स्टोरी हिंदीएक दूजे के लिए सेक्स कहानीचुतkamsin titli ki saxi vidio adio storiचुदाई कहानी कामवालीantrvasna. randi saas rajniSex video malavika .com .co.inwwwboor fatne ki xxx kahani comxvideos store maa ko dekhi chudawatemutnae ki kahani bhabhi kiचुदवाने वाली भाभीचुत फिगरदरोगा ने मेरी मौसी की बुरKamwali ki chut Ka swad liyaसाईट sex टापकच्‍ची उम्र में मौसा जी से चुद गई