मैं और मेरी कमीनी फैमिली

दोस्तो, ये बात तब की है जब मैं लगभग 16-17 साल का था..
घर में मेरे इलावा मम्मी-पापा, और एक बड़ी बहन भी थी।
पापा को, अपने काम से फ़ुर्सत ही नहीं मिलती थी.. इस कारण, हम दोनों भाई बहन मम्मी के साथ ही घूमते फिरते थे..
वैसे, मेरी बड़ी बहन अधिकतर घर से बाहर ही रहा करती थी।
मौका मिलते ही, वह कभी नाना-नानी, कभी दादा-दादी या कभी और किसी करीबी रिश्तेदार के पास, रहने चली जाती थी।
उसकी पढ़ाई भी इस कारण अच्छी नहीं रह पाई।
हमारी मम्मी जो की खुद अच्छी पढ़ी लिखी महिला थीं, काफ़ी मॉडर्न विचारों वाली थीं।
वह कभी भी दकियानूसी विचारों को नहीं पालती थीं.. उन्होंने, कभी भी हम भाई बहन में अंतर नहीं रखा..
इस कारण, हम लोग आपस में काफ़ी खुले हुए थे।
यहाँ तक की कभी भी किसी भी बात पर, अपने विचार व्यक्त कर सकते थे।
एक तरह से, हम में किसी प्रकार का कोई परदा नहीं था।
मम्मी और मेरी बहन जो की मुझसे करीब एक साल बड़ी थी ने कभी मुझसे शरम या परदा नहीं किया..
वह दोनों घर में, मेरे सामने ही अपने ऊपरी कपड़े बदल लेती थीं.. जैसे तोलिये की आड़ में, या पीठ कर के..
जिस कारण, मैं बड़ी सफाई से निगाहें चुरा कर उन दोनों के मांसल बदन का भरपूर रसस्वादन करता था…
इसका एक कारण, यह हो सकता है की मैं बचपन से ही काफ़ी सीधा साधा, भोला भंडारी सा दिखता था.. लेकिन, कोई नहीं जानता था की मैं जितना ज़मीन के ऊपर हूँ, उससे कहीं ज़्यादा ज़मीन के नीचे हूँ..

तो अब, मैं सीधे सीधे अपनी कहानी पर आता हूँ… …
मेरी मम्मी जो की काफ़ी बिंदास स्वाभाव की थीं की उम्र 37-38 होगी.. क्यूंकि, मम्मी की शादी 17-18 साल की उम्र में ही हो गई थी और 19-20 साल में मेरी बड़ी बहन जन्मी थी..
अपने कॉलेज की पढ़ाई, मेरी मम्मी ने हम दोनों बच्चों के जन्म के बाद की थी।
उनका बदन, अब तक गठीला था.. लंबाई, लगभग 5.5 फीट और बदन पूरा मांसल… (यानी केवल वहीं पर, जहाँ ज़रूरी होता है।) कहीं कोई, ज़्यादा चर्बी नहीं थी.. इस कारण, वह अब भी 30-32 से ज़्यादा की नहीं लगती थीं..
ऐसी ही मेरी बहन भी थी.. जोकि, उस समय कोई 18-19 साल की थी..
उसका रूप सौंदर्य भी देखते ही बनता था.. ग़ज़ब का नशीला जिस्म था, उसका..
मेरे दोस्त भी उसे चोरी छुपे देखा करते थे और मेरे पीठ पीछे उसके बारे में गंदी और अश्लील बातें करते थे.. जिन्हें, मैं थोड़ा बहुत सुन कर खुश होता था की चलो, मेरे घर में मुझे क्या मस्त चीज़ें देखने को मिलती हैं.. जिसके लिए, ये सभी बिचारे तरसते हैं..
खैर, तो उन दिनों मेरी बहन कुछ ज़्यादा ही मोटी लगने लगी थी।
असल में, वो कुछ दिनों पहले ही दादा-दादी के यहाँ से आई थी और वहां लाड प्यार में खूब खाया पिया था।
यहाँ आने के बाद, मम्मी ने उसे कहा की रोज़ाना एक्सर्साइज़ करा कर… नहीं तो, फुलती ही चली जाएगी…
उसने भी डर कर, हामी भर दी।
इसके बाद, वह रोज़ाना हमारे रूम में सुबह और शाम के समय कसरत करती।
हम दोनों बचपन से, एक ही रूम में रहते और सोते थे.. जिसमें, एक डबल बेड रखा था..
अब वह रोज़ाना सुबह 6 बजे का अलार्म लगाकर उठती थी और फ्रेश होकर, केवल स्पोर्ट्स ब्रा और नेकर पहन कर एक्सर्साइज़ करती.. मैं धीरे से आधी आँख खोल कर, उसका भूगोल देखता रहता था..
कभी कभी, मम्मी भी वहां कई बार कोई एक्सरसाइज सीखने के लिए हम दोनों के सामने ही, अपनी साड़ी खोल कर केवल ब्लाउज पेटीकोट में एक्सर्साइज़ सिखातीं।
तब तो, मेरा दिमाग़ ही खराब हो जाता और मैं अपना तना हुआ लौड़ा दबाया करता।
ऐसा कई महीनों तक चलता रहा और मैं बुद्धू बन कर मज़े मारता रहा।
इस बीच, हम लोग पापा के पीछे पड़ गये की हम सभी को कहीं घूमने ले जाएँ… तो वो बोले की मैं समय निकालने की कोशिश करता हूँ…
लेकिन, समय यूँही बीतता गया और मेरी बहन ने चाचा चाची के साथ, बाहर घूमने का प्रोग्राम बनाया और वो उन लोगो के साथ 15-20 दिनों के लिए, घूमने चली गई।
इससे हम (मम्मी और मैं) पापा से नाराज़ हो गये तो कुछ ही दिन बाद, पापा ने कहा की उनके एक दोस्त का गोआ शहर के बाहर एक गेस्ट हाउस है और अभी वो खाली है… इसलिए, हम लोग वहां चले जाएँ और मज़े करें… बाद में, वो भी समय निकाल कर वहां आ जाएँगें…
लेकिन, हम उनके बिना वहां जाना नहीं चाहते थे.. पर, उनके समझाने पर मैं और मम्मी गोआ चले गये और मेरी बहन का पापा के साथ, वहां आना तय हुआ..
और तय प्लान के अनुसार, मैं और मम्मी ठीक समय गोआ पहुँच गये।
उस समय वहां ऑफ सीज़न चल रहा था और बारिश की वजह से टूरिस्ट्स भी नाम के ही थे.. लेकिन, वहां जाते ही रास्ते में वहां के सेक्सी नज़ारे देख कर, मुझे लगा की यहाँ आकर कोई ग़लती नहीं की है..
हमें लेने के लिए, गेस्ट हाउस से एक आदमी आया था और उसने बताया की यहाँ अंदर ही ज़रूरत की सभी चीज़ें हैं और यदि कुछ चाहिए तो उसकी दुकान कम हाउस पास ही है.. अपना फोन नंबर देकर, वो बोला की बस हम उसे फोन कर दें और वो आकर समान या जो भी हमें चाहिए हो दे जाया करेगा.. रोज़ सुबह शाम, सफाई वाली आएगी और आपके बाकी सभी काम भी कर देगी..
मम्मी इस बात से खुश थीं की गेस्ट हाउस में रुकने से हमें होटल का भारी रूम चार्ज नहीं लगेगा और यहाँ हम, कम पैसों में कई दिन मज़े कर सकते हैं।
खैर, गेस्ट हाउस में आकर पता चला की यहाँ पर घूमने के लिए एक गाड़ी भी खड़ी है.. किचन और फ्रिज, पूरा खाने की चीज़ों से भरा हुआ है..
सड़क से अंदर, गेस्ट हाउस एक बड़े कॉंपाउंड में फैला हुआ था.. जिसके, चारों और बड़ी-बड़ी कटेदार दीवारें थीं.. पीछे की तरफ, उफनता हुआ समुंदर था और यह पूरा इलाक़ा सुनसान में था.. जहा, चारों तरफ केवल समुंदर और बड़े-बड़े पत्थर रखे थे..
अंदर अलमारी में शानदार कपड़े थे.. जिनमें, स्विमिंग कॉस्ट्यूम्स ऐसे थे की जिनको हाथ में लेने में ही, शरम महसूस हो..
खैर, एक बात थी की यहाँ कोई भी अपना परिचित नहीं था.. इस कारण, शरम और संकोच का, यहाँ कोई काम नहीं था..
मैंने मम्मी को खुशी से, अपनी बहन से फोन पर बात करते सुना की यहाँ इतनी आज़ादी है की चाहे तो पूरे नंगे होकर, सी बीच पर दौड़ लगाओ… कोई, देखने वाला नहीं है…
गेस्ट हाउस के पीछे, जो स्विमिंग पूल है उसमे नीला आसमान ऐसा दिख रहा था मानो ज़मीन पर उतर आया हो।
कुल मिलाकर, हमारा “जैक पॉट” ही लग गया था…
अगली सुबह, जब मैं सोकर उठा तो मम्मी नहीं दिखीं।
मैं उन्हें ढूंढने के लिए, दूसरे कमरे में गया। जहाँ पर, वह अलमारी खोल कर उसमें अपने साइज़ के स्विमिंग कॉस्ट्यूम्स देख रही थीं और मुझे देखकर कहने लगीं की चलो, तुम भी चेंज कर लो और हम दोनों स्विमिंग करेगे…
मैं तो कब से, मौका ही देख रहा था।
जल्दी से, फ्रेश होकर फटाफट पूल साइड पर पहुँचा तो देखा की मम्मी ने पहले ही ब्रेकफ़स्ट का सारा समान पूल साइड पर रखवा कर, काम वाली बाई से सभी काम करवा कर, उसे चलता कर दिया था।
अब वहां पर, मेरे और मम्मी के अलावा कोई नहीं था।
थोड़ी देर बाद, वहां मम्मी आईं तो मेरा तो दिमाग़ ही खराब हो गया।
उस समय, उन्होंने जो स्विमिंग कॉस्ट्यूम पहना था वो शायद उनके साइज़ से एक साइज़ कम था.. इसीलिए, उनका पूरा बदन कॉस्ट्यूम फाड़ कर, बाहर आने के लिए मचल रहा था..
मेरे तो बस होश ही उड़ गये और मैं फटी फटी आँखों से, उन्हें देखने लग गया।
तभी, मम्मी ने मुझे आवाज़ देकर जगा दिया और एक कॉस्ट्यूम देते हुए कहा की मैं भी यही पहन लूँ।
खैर, मैंने वहीं पर तौलिये में अपना कॉस्ट्यूम चेंज किया। लेकिन, उसका कट कुछ ऐसा था की मेरा पूरा तना हुआ लिंग बाहर से दिख रहा था।
जिस कारण, मैं शरमा रहा था।
मम्मी ताड़ गईं और कहने लगीं की क्या तू तो, लड़कियाँ से भी बदतर है… तेरी जगह मैं या तेरी बहन होती, तो अब तक तो सी बीच पर टू पीस में दौड़ लगा आती…
ऐसा कह कर, उन्होंने मेरा तोलिया खींच लिया।
अब मैं केवल, जरा सी कॉस्ट्यूम में था और शरमाते हुए पानी में पैर डाल कर बैठ गया, क्यूंकि मुझे तैरना नहीं आता था।
मम्मी को भी तैरना, इतने अच्छे से नहीं आता था। इसलिए, उन्होंने मेरा हाथ पकड़ कर धीरे-धीरे पानी में उतरना शुरू किया और जल्दी ही हम दोनों सीने तक पानी में समा गये।
मम्मी को मैंने पहली बार, इतने बिंदास अंदाज़ में देखा था। उन्हें शरम नाम की कोई चीज़ ही नहीं थी और वो अपने जवान लड़के के साथ, पानी में मस्ती कर रही थीं।
उनकी कॉस्ट्यूम, जो की उन्हें थोड़ी टाइट थी, पानी में भीगने की वजह से और ज़्यादा बदन से चिपक गई और उनकी निप्पल भी थोड़ी थोड़ी दिखने लगी थी। जिसे देखकर, मेरा लंड चड्डी फाड़ कर बाहर आने को मचलने के लिए बेताब हो गया।
बड़ी मुश्किल से, मैंने दबाए रखा।

यह कहानी भी पड़े  बेटा आज तू मेरे साथ ही सुहागरात मना ले

Pages: 1 2 3 4

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


मेरी बहन झड़ने वाली थीMausi ko peshab karte hue chhat par chudai kahaniTai chachi ki jhant banake chudi kiपैसे के लिए छूट छुड़वाईकमला बहु और ससुरAntrvasna mosi mosa or Mai ek sath Soye bad parहिन्दी मे उच्च स्वर मे चुदाईtai cudai hindi sex storyहिंदी सेक्स स्टोरीज भाभी की पेंटी शॉपिंग incestcchote larke ko बोल ke लालच से भाभी ne सेक्स क्या हिंदी कहानीऑन्टी बोली आज तेरा लन्ड निचोड़ लुंगीAkeli ghar me mami karvaya sex videomom ke sath kheton me sexy story inhindi antarwasnachachera bhai Milne Aaya hindi part 2बेटे से गिफ्ट में चुदवाईपुलिस। वाले।।ने । मेरी।बीबी।को।चोदा। हिन्दी सेक्सी कहानियांकुँवारी लड़की की चूत की फोटो अनेकनैंसी की चूत मारीबेटा चूचियों पर हाथ से दबा बहुत मज़ा आ रहा हैPuja.k.cudae.k.kahaneचुदवाने वाली भाभीmaa site:buyprednisone.ruxxx bur me laddalke chudns hinde dashiहम चुदाई कर रहे तभी मामी aa gaiशादी से पहले भाभी की सील तोडी2 ladaki 1ladaka sex stories hindi wwww.vnfimsexwww.maa bahen maa bani new antarvasana. comAantervasna bhabhi and choti babhiउसके नंगे स्तनों पे मंगलसूत्रशेकश कदी नवीन बिबिhindibiachudaiमाँ को नंगा नहाते देखा बीटा हिंदी कहानीओह्ह माय गॉड फक मी सेक्स स्टोरीvasana बहन का सेक्स कहनीhindisexstoreexossib majburi ki sex kahani hinditau bahu anter vasnaPorn storey kartoon comcie कच्ची उम्र दूध सेक्सpariwarik rishton me sex storiLandkibukh.चुदने समय सेक्स चोदने वाली विडीयोwww.larki kd bobo me dud kese utpan hota haiXxx gand me chaku dalkar hindiलुधियानाकी देशी चूत बिडियोwww.antravasnasexkahani.comविधवा की चुत मार दीJamidar sex kahaniताई की सेक्स कहानीताऊऔर मां कि चुदाई https://otkrivashki.ru/teatroporno/chudai-ke-sholey-kahani/कहानी जवाजवीहिन्दी अंतरवसना सेक्सी फोटो कहानी सिस्टर जबरदस्त छोडा ब्लैक मेल कर मालिश माँ सेक्सी वीडियोसwww.pura.land.chutme.ghusade.bhosdike.hindi.sex.kahaniमैरिड प्यासी आंटी की चुदाईsali sexy hindi likhabat me video nahinanihal me mummy ke gangbang sex storymumm ko train me god me bitha kr sab ke samne choda sex storiesआंटी की चूतचुदीअंकल सेkhetme rekha bhabine lund pakda hindimeचोदाइXnxxAnatarvasna me solelyघर जाकर किया चुदाईshohar k saamne gundo ne chodaहहह उम्म्ह सेक्स स्टोरीdo lundse chudwaiantarwasna kapde dhote samay niche baith kar chut dikhaiस्कूल गर्ल सेक्सantarvasna in hindi new सामूहिक चुदाईghaghara me chudai hindi storyAunty me apni jibh mere muh me chusne ke liye deti h kiss yum storiesगर्लफ्रेन्ड से चुदाईभाभी की बुर से बच्चा निकलतेdaives or bhabhai sax storyxxx achi zzz 2018 bhuo kahaniराजपूतनी के सेक्सी विड़यो चुनरी घाघरा Bibi ko gorop ma chodaammi ku bibi banakar chudamajor sahb deenu pani kitchenTwo sister aapas me hastmethun ki sexy kahaiyaपंजाबी लडकी चुत दुसरे का लौँडा न फाडीकमसीन बुर की चोदई की सेकसी विडीओhindibiachudaiचुदाई चुदाईbaap beti ki ghamasan chudai hindi sex storiesसास ने अपनी सहेली छुड़वाईxxxvideostorihindiरिश्तोंमे अदला बदली सेक्स स्टोरीलम्बी चुड़ै कहानी विलेजbhabi ki malis or chudai kamukta com parपूछने लगी तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंडमराठी सेक्स स्टोरीस रंडी आईAntarvasnasexKahaniya. Comरोज अपने भाई का लौड़ा चूसती हूँचूत की बातचाची की चुदाई कामुकता कॉम