जगत मौसी के जिस्म की गर्मी

मेरा नाम दीपक है और मैं शहर जो हमारे गांव से लगा हुआ है, में एक ( जगत) मौसी के घर मैं रहकर पढ़ता हूँ. घर मैं एक मौसी, भाई और भाभी है मौसी की उमर कोई 47 साल की है. भैया की उमर 25 साल है और भाभी की 23 साल. मैं 20 साल का हॅट्टा कॅट्टा युवक हूँ गाँव का काम ठेकेदार सम्हालता है. पर मौसाजी की म्रत्यु के बाद भैया गाँव में ठेकेदार की मदद करते हैं और सप्ताहान्त पर आते हैं. इन लोगो के पास काफ़ी पैसा था और एक कार भी थी और काफ़ी ज़मीन जायदाद. मैं 20 साल का हो चुका था और पिछले 6-7 सालो से मूठ मार कर गुज़ारा कर रहा था. मुझे भारी बदन की औरते बहुत पसंद थी शायद यही वजह थी कि मुझे बड़ी उमर की औरते भी पसंद थी खास कर के औरत का भारी चूतड़ों पर तो मैं फिदा था. और मेरे घर मैं तो दो दो औरत जिनके चूतड़ बहुत भारी थे.

मौसी जो की 47 की हो चुकी थी उनका फिगर कोई 38 34 42 था. चूचियाँ और चूतड़ बहुत भारी थे साथ ही पेट भी हलका उभरा सा था और नाभी बहुत गहरी थी. भाभी का फिगर भी कुछ कम नही था 36 30 40. भाभी भी काफ़ी भारी चूतडो की मालकिन थी. जब से शादी हो कर आई थी तब से उनके चूतड़ और चूचियों मैं और भी उभार आ रहा था. मैं तो पूरे दिन मौसी और भाभी के चूतडो को ही निहारा करता और दिन मैं 4-5 बार मूठ मार कर अपना रस बर्बाद कर देता था. भैया की शादी को 2 साल हो चुके थे पर उनके कोई संतान नही थी. भाबी बहुत ही अच्छी थी और मुझे बहुत प्यार करती थी और मेरा बहुत ख़याल भी रखती थी. भैया सप्ताहान्त पर आते और भैया भाभी काफ़ी अपना समय अपने कमरे मैं ही बिताते थे. मौसी मौसाजी के जाने से पहले तो बहुत रंग बिरंगे कपड़े पहनती थी पर मौसाजी के बाद क्योंकि गाँव मैं रह रहे थे इसलिए जायदातर साड़ी ही पहनती थी कभी कभी चोली और लहंगा पहन लेती थी पर वो भी एक दम सीदा साधा. पर चोली लहँगे मैं मौसी एक दम गजब लगती थी. उनकी भारी भरकम चूचियाँ उसके अंदर समाँ ही नही पाती थी वो अपनी चुनरी से अपनी विशाल छातियों को छुपाने की नाकाम कोशिश करती थी. और उनका चूतड़ लहँगे को फाड़ कर भर आने को तैयार रहता इतना कसा होता

यह कहानी भी पड़े  बीमार चाची के साथ रोमांस और सेक्स देसी कहानी

था उनके चूतड़ो पर. वो 47 की हो चुकी थी पर क्योंकि उन्होने घर मैं शुरू से ही काफ़ी मेहनत की थी इसलिए उनके अंगे अभी ढीले नही पड़े थे और उनमे एक कसाव अभी भी था यहाँ तक चूचियाँ भी भारी थी पर ढीली नही हुई थी. उनकी चोली में से झाँकती हुई चूचियाँ ये सॉफ बयान करती थी. दो इतने खूबसूरत औरते मेरे घर मैं थी और मुझे मूठ मार कर काम चलाना पड़ता था कभी कभी तो मुझे बड़ा गुस्सा आता और सोचा मौसी और भाभी पकड़कर चोद डालूँ पर मन मार कर रह जाता था. भाभी भी शहर की थी पर उन्होने अपने आप को गाँव मैं अच्छे से ढाल लिया था. शहर मैं तो पश्चमी ढंग के कपड़े पहनती थी पर अब घर मैं सिर्फ़ साड़ी या घाघरा चोली ही पहनती थी. पर उनके कपड़े मौसी की तरह सादे नही होते थे और उनके ब्लाउज़ के कट बहुत ही गहरा होता था जिससे से उनकी 1/4 चूचियाँ बाहर झाँकती थी और उनकी दोनो चूचियाँ मिल कर क्या मस्त कट बनाती थी. और वह ल़हेंगा नाभी की नीचे ही पहनती थी जिससे उनकी गहरी नाभी सॉफ दिखाई पड़ती थी. जब वह घाघरा चोली पहनती तो चुनरी अपने सर पर रखती थी जिससे उनकी साड़ी छाती खुली रहती और मुझे उनके मोटी नुकीली छातियों के दर्सन होते रहते जिससे मेरा लण्ड हमेशा खड़ा रहता.

दिन मे मैं गांव जा खेतो मे काम देखता कभी वहाँ पर भी मूठ मार कर अपने लण्ड की भूख को शांत करता. मेरी भाभी बहुत ही नयी ढंग के ब्रा पॅंटी पहना करती थी कभी कभी भैया के साथ शॉपिंग पर शहर जाती थी शायद तभी वह ये मस्त ब्रा पॅंटी ले कर आती क्योंकि शॉपिंग कवर से पता चल जाता था कि वो कोई अच्छी शॉप मे

गयी थी. घर मे मौसी अपने कपड़े खुद धोती थी बाकी सबके कपड़े भाभी धोती थी. हम लोगो के घर एक बाथरूम था उससे मे एक बड़े बर्तन मैं हम गंदे कपड़े रखते थे भाभी भी अपने और कपड़ो के अलावा अपनी सेक्सी ब्रा पॅंटी भी बर्तन मैं रखती थी. एक बार मैं जब अपने कपड़े धुलने के लिए डालने गया तो मैने देखा कि भाभी की लाल रंग की पॅडेड ब्रा और छोटी से पॅंटी बर्तन मैं पड़ी थी. उससे देख कर तो मेरा लण्ड एक दम मचल गया. भाभी के बदन पर उस ब्रा और पॅंटी की कल्पना से ही मैं उत्तेजित हो गया सोचने लगा ये ब्रा कैसे भाभी के बड़ी चूचियों को अपने अंदर समाती होगी और ये कच्छी पहन कर तो भाभी के चूतड़ पूरे ही नंगे हो जाते होंगे और भाभी किसी मस्त अप्सरा से कम नही लगेंगी. मैं ब्रा और पॅंटी को अपने हाथ मैं लिए क्या मुलायम कपड़ा था एक सुंदर अन्चुयि औरत के लिए बनी थी वो ब्रा पॅंटी. पॅंटी को मैं अपनी नाक तक ला कर शुंघा क्या मदमस्त महक थी मेरी भाभी की चूत की. उसकी कच्छी पर जहाँ चूत होती के एक गहरा निशान था शायद भाभी की चूत गीली हो गयी थी जब भाभी ने वह पॅंटी पहनी थी.मैने अपनी नाक पूरी भाभी की कच्छी पर रख कर सुंगने लगा. मेरा लण्ड एक दम लोहे के रोड की तरह खड़ा हो गया था. अब मेरा रुकना बहुत मुस्किल था. मैने थोड़ी देर भाभी की पॅंटी सूँघी और फिर बाथरूम से बाहर झाँककर देखा बाहर कोई नही था मैने भाभी की ब्रा पॅंटी अपने शॉर्ट मैं छुपाई और अपनी कमरे की तरफ चल दिया. अपने कमरे मे पहुँच कर मैंने दरवाजा अंदर से बंद कर लिया. और भाभी की ब्रा पॅंटी बाहर निकाल ली. और उनकी पॅंटी सूंघने लगा. जब मैं पहली बार उनकी पॅंटी को सुँघा था तब पॅंटी थोड़ी गरम थी जैसे अभी अभी किसी गरम बदन से उतरी हो. मैं बिस्तर पर लेट गया और भाभी की पॅंटी अपने मुँह पर रख कर सुंगने लगा. मेरा लण्ड अब मेरे शॉर्ट मैं रहने को बिलकुट तयार नही था. मैं लण्ड बाहर निकाल और उससे सहलाने लगा. भाभी की चूत की महेक मे मैं खो सा गया था. मैने अपने लण्ड को ब्रा के दोनो कप्स से पकड़ लिया. पॅडेड कप मेरे लण्ड पर छुए तो मुझे बड़ा अच्छा लगा. मैने अपने लण्ड को ब्रा से कस कर पकड़ लिया और मूठ मूठ मारने लगा. ब्रा मैं मूठ मारने का मज़ा ही कुछ और था. ऐसा लग रहा था जैसे मैं भाभी के बड़ी बड़ी चूचियाँ चोद रहा हूँ और साथ ही साथ उनकी पॅंटी से उनकी चूत भी चाट रहा हूँ.

यह कहानी भी पड़े  बहन की चूत की सील तोड़ने में दर्द

Pages: 1 2 3 4 5

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


Xxxxx chaha bhtiji vidioDesi aunty ki braantarvasnaxxx indiya aanti chut m ugli hindi voisviry ki pichkari meri kokh me lagi kahaniपत्नी समज के छोटी बहन की चुदाई स्टोरीsashu maa ko choda xxx khani.comDidi Ki chudai thand me antrvasna kahaniMaire phuphi land ki pyasseसीमा भाभी की चूचि हिंदी सेक्सी कहानियाँJamidar sex kahani48saal ki aurat ki chudaiWWW.XNXX वनने के नंबरमाँ की चुदाई पडोस के पत्ती के दोस्त सेमेरी नज़र उसके कांख पर थी और जैसे ही उसने अपने हाथ उठाए मैंने देखा storysex stories didi shugrat hotin hindi me बहु मस्ती सेक्स स्टोरीchudakkad didi ki xxx kahaniरीतु चुदाई दीदी शरदीAnty or papa Chudai ki khani adioपापा ने धीरे धीरे लंड घुसायाusha bhabhi ki grop sex storybono bhabhi ne nanad ko chudaya sex storydidi ka gangbang keya hindi fuk setoreराजस्थान चुदाईसुहागरात को बीवी को चोदमाँ बहन को एक साथ छोड़ा क्सक्सक्स दोनों देखा केBra panty ki chude sxxvdeoअन्तर्वासना काजलबुर और लण्ड किप की कहानी हिन्दी मे लिख कर भेजकाजल का फिगर Xxx storysantarvasna suhagrat chudai dobara manaiyatra me risto me hui chudai ki hindi storyसेकसी चुत लडbono bhabhi ne nanad ko chudaya sex storyमामी कि चुदाईhawas mitai 3 antervasnaमम्मी बुआ फूफा की ट्रेन सेक्स कहानियांमैने ओर मामा कै लङके ने मेरी माँ कि गाँङ फाङी कि कहानीगर्लफ्रेंड को चोदा कहानीmut peekar chudai antervasna storyमम्मी की,मस्त चूदाईभाई से चूदी म बहाना बनाकरtai ji ko bhrpur chodaबोबे दबाने के चुटकलेMaa ne unka raj bataya sex storiगांड मार कि कहानियाँकिराएदार से पोर्न हिन्दी स्टोरीcoot par land ragadkr codnasavita bhabhi ka chuide hinde ma bata kartu huहिंदी सैक्स स्टोरी मा ने मेरे लोडे की मालिश कीगर्लफ्रेंड को चोदा कहानीChachi ki chudaixxx vidos mammi ammrika माँ बेटी चूची चूसी hindisexkahaniyanchut ki hawan pooja chudaiantarvasna.गालिगलौज.cpolce wali didi ki chudai khaniSaxxxx xxx full gand marnaअंटी की गाँड मे पेला मौटा लङ अंटी घबराईbade land ki diwani k8 kahaniबुर का सुपाडाबाप और भाई को टट्टी खिलाकर चुदवायाराज शर्मा सेक्सी कहानियां मां की जिस्म कीHospital ki naras ne bur chatwaya sex storisमोटे लंड से चुदाई की कहानियांराज शर्मा की sex badaDidi aapki gand bhut sexy hXxx Hindi kahani Didi ki chudai chat par daris meअन्तर्वासना बहन ने सिखाई बीबी की शील तोड़नेbua ki ldki nancy ki chut chudai ki kahanitaai ki chudaai ki kahaanisafarmai chudaiki khaniin hindiपढने वाली हिदीँ शैकशी कहानी सास ने देखी बेटे बहु की चोदाईचूतsex kahani friend uncle bahau hindiमौसा के दोस्तों ने पटक कर चोदाsexhindikahaniburचाची की चुदाई कामुकता कॉमगर्लफ्रेन्ड से चुदाईमैं मेरी सहेली ने मेरी चूत चुदाई गैर मर्द के मोटे लुंड सेSex story meri mom abha part4डरो पति की चुड़ै कहानी हिंदीChut me badi muskil se ghusa